Saturday, January 16, 2016

मेरी आवारगी में कुछ शायरी

#मेरी आवारगी में कुछ क़सूर अब तुम्हारा भी है,
#जब तुम्हारी याद आती है तो घर अच्छा नहीं लगता