Thursday, January 12, 2017

आँसू निकल पड़े hd image shayari


इतना तो ज़िंदगी में, न किसी की खलल पड़े, 
हँसने से हो सुकून, न रोने से कल पड़े, 
मुद्दत के बाद उसने, जो की लुत्फ़ की निगाह, 
जी खुश तो हो गया, मगर आँसू निकल पड़े...!!!

So much in life, not someone disrupts,
Laughter is soothing, had not cried yesterday,
After the length of time he who serves the eyes,
G was happy, but tears went ... !!!