Monday, January 23, 2017

शायरी मोहब्बत भरी in hindi with image 2017


मेरी चाहतें तुमसे अलग कब हैं, 
दिल की बातें तुम से छुपी कब हैं;
तुम साथ रहो दिल में धड़कन की जगह, 
फिर ज़िन्दगी को साँसों की ज़रूरत कब है...!!!

I'd like to have when you separate,
When things are hidden from the heart;
Be with you in a heart beat, rather,
When is the need to breath life again ... !!!