Wednesday, August 16, 2017

हमारे दिल में कोई ख्वाब shayari for facebook


भ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामा;
हमारे दिल में कोई ख्वाब पल बैठा तो हंगामा;
अभी तक डूब कर सुनते थे सब किस्सा मोहब्बत का;
मैं किस्से को हकीकत में बदल बैठा तो हंगामा...!!!