Love sad hindi shayari images 2016





















2 comments:

  1. ख़ामोश फ़ज़ा थी कहीं साया भी नहीं था,
    इस शहर में हमसा कोई तनहा भी नहीं था,
    किस जुर्म पे छीनी गयी मुझसे मेरी हँसी,
    मैंने किसी का दिल तो दुखाया भी नहीं था ...
    I Love Shayari
    Pooja from Jammu
    Shayari.net

    ReplyDelete