Shayari SMS 140 Characters SMS




एक हसीन पल की जरूरत है हमें
बीते हुए कल की जरूरत है हमें...!!!...!!!...!!!...!!!
सारा जहाँ रूठ गया हमसे
जो कभी ना रूठे ऐसे दोस्त की जरूरत है हमें...!!!...!!!

छुपा लूं तुझको अपनी बाँहों में इस तरह...!!!
कि हवा भी गुजरने की इजाज़त मांगे;
मदहोश हो जाऊं तेरे प्यार में इस तरह...!!!
कि होश भी आने की इजाज़त मांगे!


मेरी ज़िन्दगी हर शाँम़ से बदलती है!
शमाँ चाहत की तेरे नाम से जलती है!
जब भी नज़र को घेरती है याद तेरी...!!!
जिस्म की धड़कन तेरे नाम से चलती है!


तेरी याद में ज़रा आँखें भिगो लूँ;
उदास रात की तन्हाई में सो लूँ;
अकेले ग़म का बोझ अब संभलता नहीं;
अगर तू मिल जाये तो तुझसे लिपट कर रो लूँ...!!!


तड़प के देखो किसी की चाहत में
तो पता चले कि इंतज़ार क्या होता है
यूँ ही मिल जाये अगर कोई बिना तड़पे...!!!
तो कैसे पता चले के प्यार क्या होता है !!


मंज़िलों की हर सड़क आप के नाम;
मोहब्बत की हर अदा आप के नाम;
प्यार भरी हर निगाह आप के नाम;
और आज लबों पर आने वाली हर दुआ आपके नाम...!!!


पूछो ना उस कागज से...!!!
जिस पर हम दिल की बातें लिखते है...!!!
वो कलम भी दीवानी हो गयी...!!!
जिससे हम तुम्हारा नाम लिखते है**

ये शायरी लिखना उनका काम नहीं...!!!
जिनके दिल आँखों में बसा करते हैं...!!!
शायरीतो वो शख्स लिखते है...!!!
जो शराब से नहीं कलमसे नशा करते है...!!!...!!!


लफ़्ज़ों की तरह मुझे किताबों में मिलना...!!!
तू बन के महक मुझे गुलाबों में मिलना...!!!
जब भी मुझे तेरी याद आये तो...!!!
बनके आंसू मेरी आँखों में मिलना


ये वादा है तुमसे वो दिन भी मैं लाऊँगा...!!!
जब तुम ख़ुद कहोगी...!!!
मुझे दुनिया की परवाह नहीं...!!!
मैं बस तुम्हारी होना चाहती हूँ...!!!
मैं बस तुम्हारी हूँ...!!!


फूलों की शुरुआत कली से होती है;
जिंदगी की शुरुआत प्यार से होती है;
प्यार की शुरुआत अपनों से होती है;
और अपनों की शुरुआत आप से होती है!


भूले-भटके ही सही...!!! पर आओ तो कभी...!!!
बज़्म पुरानी यादों की सजाओ तो कभी...!!!...!!!
यूँ दूर बैठकर रस्म निभाया ना करो...!!!
क़रीब आ के सुनो और सुनाओ तो कभी...!!!...!!!


मुहब्बत होंठों से नहीं...!!!
उनसे निकली मीठी बातों से है...!!!...!!!...!!!...!!!...!!!
क्यों कि मासूमियत चेहरे से कहीं ज्यादा...!!!
उसकी भोली आँखों में है...!!!

सितारों को आखो में महफूज़ रख लो
बहुत दूर तक रात ही रात होगी |
मुसाफिर है हम भी ...!!!मुसाफिर हो तुम भी
किसी मोड़ पर फिर मुलाकात होगी ||


दिल में है जो दर्द वो दर्द किसे बताएं!
हंसते हुए ये ज़ख्म किसे दिखाएँ!
कहती है ये दुनिया हमे खुश नसीब!
मगर इस नसीब की दास्ताँ किसे बताएं!


हुस्न की पहचान बाकि है
परिंदों में जान बाकी है
मुस्कराकर रोता हुआ छोड़ गए हो तुम
धडकनों में जान बाकी है


सिलसिले तो यूँही चलते रहेंगे
फ़ासले है और बढ़ते रहेंगे
आप क्यों नही समझे हमारी बात
के आपके बिना तो हम तिल तिल मरते रहेंगे...!!!...!!!!!!


लम्हे तहे इंतेज़ार के अश्कों मेंबह गये
एक कार्ब आशना सा होतों पे रह गया
तुम से यह हालएदिल दीवानगी मेंकह गये
मतलब वफ़ा का अब तो मतलबही रह गया


एहसास के दामन में आंसू गिराकर देखो;
प्यार कितना है आजमा कर देखो;
तुम्हें भूल कर क्या होगी दिल की हालत;
किसी आईने पे पत्थर गिराकर तो देखो...!!!

Yaadon mein hum rahein ye ehsas rakhna...!!!
Nazron se door sahi dil ke paas rakhna...!!!
Ye nahi kehte ke sath raho...!!!
Door sahi par yaad rakhna...!!!


Agar wo koi chiz hoti to kharid leta...!!!
Agar wo koi insan hota to mana leta...!!!
Mana meri mhbt ko he khuda...!!!
Bas khuda ko kese paye nahi pata...!!!


मोहब्बत की हद्द है सितारों से आगे;
प्यार का जहाँ है बहारों से आगे;
वो दीवानों की कश्ती जब बहने लगी;
तो बहते बह गई किनारों से आगे...!!!


चाहने वाले की जानता है अजमत कोई-कोई
दिल से करता है आज मोहब्बत कोई-कोई;
मोहब्बत में चाहते हैं सब अशूक यार
दीवाने की माफिक चाहे तुरबत कोई-कोई...!!!


हमारे प्यार का यूँ इम्तिहान ना लो;
करके बेरुखी मेरी तुम जान ना लो;
एक इशारा कर दो हम खुद मर जाएंगे;
हमारी मौत का खुद पर इल्ज़ाम ना लो...!!!


आप दिल से यूँ पुकारा ना करो...!!!
हमको यूँ प्यार से इशारा ना करो...!!!
हम दूर हैं आपसे ये मजबूरी है हमारी...!!!
आप तन्हाइयों मे यूँ रुलाया ना करो...!!!...!!!...!!!...!!!

"नही है हमारा हाल...!!!कुछ तुम्हारे हाल से अलग...!!!
बस फ़र्क है इतना...!!!कि तुम याद करते हो...!!!
और हम भूल नही पाते...!!!"


तू नाराज न रहा कर
तुझे वास्ता है खुदा का
एक तेरा ही चेहरा देख कर
तो हम अपना गम भुलाते हैं


मोहब्बत का मेेरा यह सफर आखिरी है...!!!
ये कागज...!!!ये कलम...!!! ये गजल आखिरी है...!!!
फिर ना मिलेंगे अब तुमसे हम कभी...!!!
क्योंकि तेरे दर्द का अब ये सितम आखिरी है...!!!


किसी बेवफा ने मेरे दिल को तोड़ दिया...!!!
इसलिए हमने रास्ता मोड़ लिया...!!!
दिल की बात मत करना दोस्त...!!!
हमने तो प्यार करना ही छोड दिया...!!!


छोड़ दे तू मुझे गिला भी नहीं...!!!...!!!
मुझमे अब और कुछ बचा भी नहीं...!!!
उसने बस यूँ कहा ...!!!...!!!चले जाओ…!!
जल्दबाज़ी में...!!! मैं रुका भी नहीं


तू हाँ कहेगी तो Jee जाऊँगा ...!!!
तू ना कहेगी तो मर जाऊँगा...!!!
एक बार बोल के देख तेरे लिए कुछ भी कर जाऊँगा

प्यार आ जाता है आंखो में रोने से पहले
हर ख्वाब टूट जाता है सोने से पहले
इश्क है गुनाह ये तो समझ गए हम
काश...!!!कोई रोक लेता ये गुनाह होने से पहले


Paya hai jitna pyaar aapse...!!!
Usse bhi jyada pane ko ji chahta hai...!!!
Na jane kaun si khubi hai aapme...!!!
Dosti nibhane ko ji chahta hai


Na sawaal banke mila karo...!!!

Na jawaab banke mila karo...!!!

Meri zindagi mera khwaab hai...!!!

Mujhe khwaab banke mila karo


मुहब्बत की लाख दुहाई देने वाले...!!!
देखे हैं कई झूठी गवाही देने वाले;
मजबूरी थी इसलिए कर न सके वफा...!!!
बस और क्या कहेंगे सफाई देने वाले ??


अंदाज़ उनका बड़ा शातिराना है यारों
वो अक्सर हमें अपनी यादों में डुबाते रहते हैं
ये कहकर की तुमने हमे भुला दिया


न समझ भूल गयी हूँ तुझे !
तेरी खुशबू मेरे सांसो में आज भी हैं !!
मजबूरियों ने निभाने न दी दोस्ती !
सच्चाई मेरी वफाओ में आज भी हैं !!

तेरी ख़ामोशी हमारी कमजोरी हैं...!!!
कह नहीं पाना हमारी मज़बूरी हैं...!!!
क्यों नहीं समझते हमारी खामोशियो को...!!!
खामोशियो को जुबा देना बहुत जरुरी हैं...!!!


Teri Muskuraht meri pehchaan hai...!!!
Teri Khushi meri jaan hai...!!!
Kuch bhi nahi meri zindgi
Bas itna samajh le ki tera Dost hona meri shaan hai!


कोई वादा ना कर...!!! कोई इरादा ना कर;
ख्वाहिशों में खुद को आधा ना कर;
ये देगी उतना ही जितना लिख दिया;
इस तकदीर से उम्मीद ज़्यादा ना कर...!!!...!!!


kon khta hai ki tu udaas hai...!!!
tu bhi kisi ke liye khas hai...!!!
are dur gya hai wo kuch pal ke liye...!!!
teri yadon me to wo hmesha tere paas hai...!!!


इससे पहले की...!!!आंसू मुक्क़दर बने...!!!
इससे पहले की...!!!कोई कसम तोड़ दे...!!!...!!!
आ इसी मोड़ पर मुस्कुराते हुए...!!!
तू मुझे छोड़ दे...!!! में तुझे छोड़ दू...!!!...!!!!!


Kaas Yeh Sapna Bhi Pura Ho Jaye
Hum Bhi Kisike Sapno Me Aa Jaye
Ho Hamara Bhi Jikra Unke Labo Par
Hum Bhi Unke Dil Me Bas Jaye

करके वफाये भी हम उससे...!!!
निभाना है कैसे ये हम जानते नही...!!!
प्यार तो हम उससे करते बहुत...!!!
सनम पर दिखाना हम जानते नही...!!!


चाहते है जिसे दिलो जान सनम...!!!
अकसर उसे गम दे जाते है...!!!
प्यार करने से रोका नहीँ पर...!!!
निभाना है कैसे उससे ये जाना नही...!!!


आँखो ही आँखो मे बात होती रही...!!!
प्यार मे प्यार की बात होती रही...!!!
दिल की हर दुआ काबुल होती रही...!!!
आप हमको मिले तो जीने की राह मिलती रही...!!!!!!


क्या करोगे ये जानकर कि कितना प्यार करते हैं तुमसे...!!!...!!!
बस इतना जान लो...!!! कि वो नम्बर तुम्हारा ही था
जो मुझसे पहली बार याद हो पाया था...!!!...!!!...!!!!!


ग़म इस कदर मिला कि घबरा के पी गए
ख़ुशी थोड़ी सी मिली तो मिला के पी गए
यूँ तो ना थे जन्म से पीने की आदत
शराब को तनहा देखा तो तरस खा के पी गए


बेताब तमननाऔ की कसम रहने दो
मजिल को पाने की कसम रहने दो
आप चाहे रहो नजरो से दुर पर
मेरी आखो मे अपनी एक झलक रहने दो...!!!...!!!

जो मज़ा मोहब्बत में दूर से आता है...!!!
पास आ के वो कुछ पाने की चाहत करता है...!!!
सच्ची मोहब्बत तो नसीब से मिलती हैँ

जिस्म का नशा तो हर कोई करता है...!!!

तेरे लब ज्यों नाजुक कोंपल कोई...!!!
तुम खिलती हुई कली गुलाब सी...!!!
आँखें ज्यों मय से भरे प्याले...!!!
तुम लगती हो सुनहरे ख्वाब सी...!!!...!!!!!


तेरे हर दुख को अपना बना लूँ ...!!!
तेरे हर गम को दिल से लगा लूँ ...!!!
मुझे करनी आती नहीं चोरी वरना...!!!
मैं तेरी आँखों से हर आँसू चुरा लूँ " !!


कभी सामने आईने के गलती से भी आ जाओ
खुदा कसम आईना भी चिटक जाए
इन आँखों की खूबसूरती को ऐ हुस्न-ऐ-मल्लिका
जरा परदों में रखा कीजिये ...!!!


न तुम कभी भूलना हमें...!!!
न हम कभी...!!! तुम्हें भुला पाएंगे !
बहुत अच्छा लगेगा
ज़िन्दगी का ये सफ़र...!!!
वहां से तुम याद करना
और यहाँ से हम मुस्कुराएंगे...!!!!!


तेरी मोहब्बत में एक अजब सा नशा है...!!!
तभी तो सारी दुनिया हमसे ख़फ़ा है
ना करो तुम हमसे इतनी मोहब्बत
कि दिल ही हमसे पूछे बता तेरी धड़कन कहाँ है !!!


हां हो गई गलती मुझसे मैं जानता हूं
मैं अब भी तुझे अपनी जान मानता हूं
आखिरी मौका दे मुझको मैं अब भी तुझे अपनी शान मानता हूं

"हादसे इंसान के संग मसखरी करने लगे
लफ्ज कागज पर उतर जादूगरी करने लगे;
कामयाबी जिसने पाई उनके घर बस गए
जिनके दिल टूटे वो आशिक शायरी करने लगे...!!!


वक्त बदलता है जिंदगी के साथ
जिंदगी बदलती है मोहब्बत के साथ

मोहब्बत नहीं बदलती अपनों के साथ
बस अपने बदल जाते हैं वक्त के साथ...!!!...!!!!!


वो बेवफा नही थी शायद...!!!
वो तो मुझ पर एहसान कर के चली गयी...!!!

बेचारी खानदान की इजजत के लिए...!!!
मेरी मोहबत को कुरबान कर के चली गयी...!!!!!


तुम इक घड़ी...!!!...!!!...!!! इक पल...!!!...!!!...!!! इक लम्हा...!!!...!!!...!!!
मेरे साथ बिताने का वादा तो करो
मैं हँस कर कई साल...!!!...!!!...!!! कई सदियाँ...!!!...!!!...!!!
कई जिंदगी तुम्हारा इंतजार कर लूँगा


जीने की ख्वाहिश में हर रोज़ मरते हैं...!!!
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं...!!!
झूठा ही सही मेरे यार का वादा है...!!!
हम सच मान कर ऐतबार करते हैं ...!!!~


उनके आने की उमीद मे
हम भी चाँद दिए जलाए बैठे हैं
एक वक़्त आएगा जब ये दिए भी भुज जाएँगे
उस वक़्त हम भी इस दुनिया से उठ जाएँगे

Aakhen kholu to chehra tumhara ho...!!!
Band karu to sapna tumhara ho...!!!
Maar bhi jau to koi gam nahi...!!!
Agar kafan ke badle achal tumhara ho...!!!


उनका वादा है के वो लौट आएँगे
इसी उम्मीद पर हम जीए जाएँगे
यह इंतेज़ार भी उन्ही की तरह प्यारा है
कर रहे थे कर रहे हाइन और किए जाएँगे


प्यार मे दुनिया खूबसूरत लगती हे...!!!
दर्द मे दुनिया दुश्मन लगती हे...!!!
अगर तुम मेरे जीवन मे ना हो...!!!
तो पानी भी हमको शराब लगती हे...!!!


रिश्ता खत्म करने से...!!!...!!!...!!!
मोहब्बत कम नहीं होती
लोग तो उन्हें भी याद करते हैं...!!!...!!!...!!!
जो दुनिया छोङ जाते हैं!!


कितना खुशनुमा होगा वो...!!!
मेरे इँतज़ार का मंजर भी...!!!
जब ठुकराने वाले...!!!
मुझे फिर से पाने के लिये आँसु बहायेंगे...!!